बलगम से तुरंत छुटकारा पाए | Balgam se chutkara

No comments
Balgam se chutkara


मौसम बदलने के साथ साथ जो एक समस्या अक्सर परेशान करती है वो है बलगम (Balgam) का जमना।

अक्सर बलगम सीने और फेफड़ों में जमता है किन्तु कई बार यह गले में भी जम जाता है।
बलगम जमने के कारण गला और सीना बन्द बन्द सा लगता है और बहुत बेचैनी सी महसूस होती है।

पूरे साल यह समस्या कभी भी पूरे घर में किसी को भी हो सकती है ।

1. बलगम (Balgam) से मुक्ति के लिये अपनायें भाँप का सेवन


बलगम से मुक्ति पाने के लिये भाँप लेना शायद सबसे पुराना और आज भी सबसे ज्यादा अपनाया जाने वाला प्रयोग है।

भाँप के साथ श्वसन नलिका में गयी उष्णता बलगम को एक दम से पिघला देती है यह मुख से रास्ते बाहर निकलने लगता है । बलगम जब ढीला पड़ जाता है तो सीने और गले की जकड़न से भी तुरन्त आराम मिलता है।

 भाँप लेने के पानी में यदि कुछ बूँदे यूकेलिप्टस ऑयल अथवा लौंग के तेल की मिला ली जायें तो यह और भी ज्यादा कारगर हो जाता है।

भाँप लेने का सबसे बड़ा लाभ यह है कि इसको किसी भी अन्य चिकित्सा के साथ प्रयोग किया जा सकता है ।

2. बलगम (Balgam) से मुक्ति के लिये लाभकारी है अदरक का काढ़ा


अदरक हर घर की रसोई में मौजूद रहने वाली सर्वसुलभ औषधि है । इसके सम्पूर्ण गुणों के बारे में अगर चर्चा की जाये तो शायद पूरा ग्रंथ ही लिखना पड़ेगा ।

 बलगम की समस्या में भी अदरक का प्रयोग अतिउत्तम सिद्ध होता है । 200 मिलीलीटर ताजा पानी लेकर उसमें 20 ग्राम अदरक को कूटकर डालकर पानी को पकायें ।

जब पानी पकते पकते 100 मिलीलीटर शेष रहे तो इस काढ़े को थोड़ा ठण्डा करके पी लें । यह काढ़ा बलगम को काटकर निकाल देता है जिससे साँस खुलकर आने लगती है ।


3. बलगम (Balgam) से मुक्ति पाने में उपयोगी है सेंधा नमक


सेंधा नमक भी बलगम की समस्या में आपको बहुत राहत देगा ।

 इस तरह की परेशानी होने पर एक गिलास गुनगुने गरम पानी में 2-3 ग्राम पिसा सेंधा नमक मिलाकर पिलाकर पीने से यह गले और सीने में जमें कच्चे-पके बलगम का छेदन करता है और उसको मुँह के रास्ते बाहर निकाल देता है ।

तो यदि आपको भी इस बार यह समस्या हो तो इस प्रयोग को जरूर आजमाना। खास बात यह है कि यह प्रयोग दिन भर में एक बार करना ही पर्याप्त होता है।


4. बलगम की समस्या में लाभकारी होता है दालचीनी और हल्दी का मिश्रण


दालचीनी और हल्दी चूर्ण, इन दोनों में ही एण्टीबॉयोटिक गुण होते हैं।

ये दोनों ही चीजे कच्चे बलगम को जल्दी पका देती हैं जिस कारण से वह सरलता पूर्वक निकल जाता है। दालचीनी और हल्दी दोनों का एक-एक ग्राम चूर्ण मिलाकर गरम पानी के साथ रोज सुबह शाम सेवन करने से
यह ना सिर्फ बलगम की समस्या में राहत देता है

बल्कि शरीर को अन्दर से शुद्ध भी करता है जिस कारण से शरीर की रोगप्रतिरोधक शक्ति बढ़ती है और शरीर दूसरी कई बीमारियों की चपेट में आने से बच जाता है।

आप भी एक बार इस प्रयोग को जरूर आजमाकर देखना ।

5. बलगम की समस्या में लाभ देते हैं शहद और लहसुन


शहद और छिले हुये लहसुन का पेस्ट बनाकर गरम पानी के साथ सेवन करने से यह फेफड़ों की सफाई करता है और आराम देता है ।

बहुत ज्यादा खासने पर भी ना निकलने वाला सूखा बलगम भी इस प्रयोग की मदद से बहुत जल्दी निकल जाता है। ये दोनों ही चीजें शरीर के बहुत लाभकारी होती हैं अतः इनके प्रयोग से शरीर निरोगी भी बनता है।

लहसुन जहॉ शरीर की शक्ति को पुनः लौटाने का काम करता है वही शहद का सेवन शरीर में मौजूद हानिकारक जीवाणुओं को नष्ट करता है।

इस प्रयोग में एक समय में लहसुन की दो कली और दो ग्राम शहद लेना उचित रहता है। .

No comments :

Post a Comment